हमारे  बारे में उत्पाद पैलेट ऋण सेवाएँ जमा न्यूसरूम जानकारी संपर्क संबंधित लिंक होम
   मुख्य पृष्ट > ऋण > किसान क्रेडिट कार्ड
किसान क्रेडिट कार्ड
प्रयोजन / उद्देश्य* फसल उगाने के लिए लघु अवधि ऋण आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए।
* फसल काटने के बाद होने वाले व्यय के लिए।
* उत्पादों के विपणन हेतु ऋण।
* कृषकों के घरेलू उपभोग की आवश्यकताओं के लिए।
* कृषि आस्तियों के रखरखाव तथा दुधारू पशु, देशी मत्स्यपालन आदि कृषि से संबंधित कार्यकलापों के लिए कार्यकारी पूंजी।
* पम्प सेट, स्प्रेयर, डेरी पशु जैसे कृषि एवं संबंधित कार्यकलापों में निवेश हेतु ऋण आवश्यकताएँ।
पात्रता* सभी कृषक - वैयक्तिक/संयुक्त उधारकर्ता जो भूस्वामी कृषक हैं।
* काश्तकार, मौखिक पट्टेदार और बंटाईदार।
* स्वयं सहायता समूह या कृषकों के संयुक्त देयता समूह जिसमें काश्तकार, बंटा
ऋण की मात्रा* फसल के लिए वित्त की मात्रा के आधार पर फसल ऋण घटक का आकलन + बीमा प्रीमियम x फसल उगाया गया भू-क्षेत्र + फसल काटने के बाद की/घरेलू/उपभोग आवश्यकताएँ के लिए सीमा का 10% + कृषि आस्तियों की मरम्मत के लिए सीमा का 20% पर आधारित है।
* सीमांत किसानों के लिए फ्लेक्सी केसीसी के साथ निर्धारित साधारण मूल्यांकन ।
* 5 साल के लिए केसीसी की वैधता।
*फसल ऋण के लिए, अलग से मार्जिन मॉंगने की आवश्यकता नहीं क्योकि वित्त के स्केल में मार्जिन पहले से लिया गया होता है।
* खाते से आहरण 12 महीने से अधिक के लिए बकाया रखना नहीं चाहिए; किसी भी समय खाते के डेबिट शेष को शून्य करने की जरूरत नहीं है।
* भारत सरकार और / या राज्य सरकार के मानदंडों के अनुसार ब्याज दर में छूट / शीघ्र भुगतान के लिए प्रोत्साहन उपलब्ध हो।
* रुपए 3.00 लाख तक की सीमा के लिए कोई संसाधन शुल्क नहीं।
* पहली बार ऋण प्राप्‍त करते समय एकबारगी प्रलेखन और उसके बाद किसान द्वारा (लगाए गए / प्रस्तावित फसल के बारे में) साधारण घोषणा।
* किसानों को दो अलग खातों के बजाय केसीसी सह एस.बी. खाता उपलब्ध कराया जाए। केसीसी सह एस.बी. खातों में जमा शेष राशि को बचत बैंक दर से ब्याज लेने की अनुमति दी जाती है।
* आईसीटी संचालित चैनलों जैसे एटीएम / पीओएस / मोबाइल हैंडसेट सहित विभिन्न वितरण चैनलों के जरिए संवितरण किया जाए।
ब्याज दरगृह पृष्ठ पर उपलब्ध।
पुनर्भुगतान अवधि* अल्पावधि उप-सीमा के अंतर्गत प्रत्येक आहरण को 12 महीनों में चुकाना चाहिए। किसी भी समय में खाते में नामे शेष को शून्य स्थिति में लाने की जरूरत नहीं है। खाते में कोई आहरण 12 महीने से अधिक के लिए बकाया नहीं रहना चाहिए।
* सावधि ऋण घटक मौजूदा दिशानिर्देशों के अनुसार गतिविधि/ निवेश के प्रकार पर लागू
जमानत* भारतीय रिजर्व बैंक के समय समय पर निर्धारित दिशानिर्देशों के अनुसार प्रतिभूति लागू होगी। * प्रतिभूति की अपेक्षाएँ निम्नानुसार होंगी:- ** भारतीय रिजर्व बैंक के वर्तमान दिशानिर्देशों के अनुसार रुपए 1.00 लाख तक की कार्ड सीमा के लिए फसल का दृष्टिबंधक। ** वसूली हेतु गठजोड के साथ: संपाश्र्विक प्रतिभूति पर जोर दिए बिना 3.00 लाख रुपए तक की कार्ड सीमा के लिए फसल का दृष्टिबंधक। ** गैर गठजोड के मामलों में 1.00 लाख रुपए से अधिक ऋण सीमाओं तथा गठजोड अग्रिमों के मामले में 3.00 लाख रुपए से अधिक राशि के अग्रिमों के लिए अचल संपत्ति के बंधक के जरिए संपाश्र्विक प्रतिभूति। *ऐसे राज्यों में जहां भूमि के रिकॉर्ड पर ऑनलाइन प्रभार सृजन की सुविधा है, उसे सुनिश्चित करें।
 
icon : Branch Network शाखा नेटवर्क
icon : Internet Banking इंडनेट बैंकिंग
icon : ATM Network एटीएम नेटवर्क
icon : IndMobile Banking इंडपे मोबाइल बैंकिंग
icon :  Debit Cards डेबिट कार्ड
icon : Credit Cards क्रेडिट कार्ड
  न्यूसरूम
 » अधिसूचनाएँ
 » जमा दरें
 » ऋण दरें
 » सेवा प्रभार / विदेशी मुद्रा दरें
 उत्पाद पैलेट
 » शिक्षा ऋण
 » धन प्रबंधन सेवाएँ
 » डिपॉजिटरी सेवाएँ
 जानकारी
 » बेसल II प्रकटीकरण
 » सूचना का अधिकार अधिनियम
 » ग्राहक केंद्रित सेवाएँ
 » उत्तम आचरण कोड
प्रेस विज्ञप्तियां  |  निविदा / बोली /नीलामी |  करियर  |  डाउनलोड  |  अस्वीकरण  |   | आनलाइन ग्राहक शिकायत