हमारे  बारे में उत्पाद पैलेट ऋण सेवाएँ जमा न्यूसरूम जानकारी संपर्क संबंधित लिंक होम
 अनिवासी भारतीय
 » एनआरआई योजनाएं
 » योजनाएँ एक नज़र में
 » विदेश में शाखाएं
 » एनआरआई इन्फो
 » भारत को विप्रेषण कैसा करें
 » अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न
 » विदेशी मुद्रा सलाहकार सेवाएं
 » निवासियों के लिए विदेशी मुद्रा सुविधाएं
 » यूएसए पैट्रियट अधिनियम प्रमाणन
 » स्पीड परिहार
 » एक्सप्रेस मनी
 » मनीग्राम

 
  home > Info > Frequently Asked Questions
  • कौन अनिवासी भारतीय (एनआरआई) है

एनआरआई ऐसा व्‍यक्ति है जो भारत का नागरिक या भारतीय मूल का है और भारत के बाहर निवास करता है।

भारत से बाहर रहने वाला व्‍यक्ति जो भारत के बाहर गया है या भारत के बाहर रहता है, दोनो ही मामलों में

  • भारत के बार रोजगार हेतु या रोजगार करने गया है। या
  • भारत के बाहर कारोबार या व्‍यवसाय करने हेतु या
  • किसी अन्‍य प्रयोजन हेतु, ऐसी परिस्थितियों में, उसके अनिश्चित अवधि हेतु भारत से बाहर रहने के इरादे का संकेत देता है।

भारतीय मूल (पीआईओ) का एक व्‍यक्ति कोई भी व्‍यक्ति है (बांग्‍लादेश  या पाकिस्‍तान का नागरिक नही) जो

  • किसी भी समय, भारतीय पासपोर्ट धारणकर्ता है।
  • भारत के संविधान अथवा भारतीय नागरिकता अधिनियम, 1955 (1955 से 57) के तहत उनके माता पिता अथवा दादा-दादी कोई भी भारत का नागरिक था।
  • उसका/उसकी पति/पत्‍नी भारत का नागरिक या भारतीय मूल का व्‍यक्ति हो।
  • एनआरआई के लिए उपलब्‍ध विभिन्‍न सुविधाऍं क्‍या है
  • बैंक खातों का अनुरक्षण
  • शेयरों/प्रतिभूतियों में निवेश
  • भारतीय संस्‍थाओं/कंपनियों में जमा
  • अचल संपत्ति में निवेश
  • भारत को सोने एवं चांदी का आयात
  • कर देयता से छूट
  • जमाओं की जमानत पर की ऋण की सुविधा As per RBI Guidelines
  • घर निर्माण/खरीद हेतु ऋण सुविधा
  • नामांकन सुविधा
  • प्रत्‍यावर्तन सुविधा (विदेशी मुद्रा में जमा का आहरण)

 

  • क्‍या एनआरआई द्वारा भारत में किसी बैंक में खाता अनुरक्षित किया जा सकता है

नहीं, बैंक जो प्राधिकृत डीलर्स लाइसेंस धारण करते हैं या बैंक भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से इस विशेष तौर पर प्राधिकृत हों, वो हीं केवल एनआरआई के नाम में खाते अनुरक्षित रख सकते हैं।

  • क्‍या एनआरआई को रूपए में तथा विदेशी मुद्रा में खाते अनुरक्षित रखने की अनुमति है

हॉं।

  • किस प्रकार के रूपए खाते अनुरक्षित रखने की अनुमति है

दो प्रकार के खाते, जैसे  

  • साधारण गैर निवासी रूपया खाता (एनआरओ खाते)
  • गैर-निवासी (बाह्य) रूपए खाते (एनआरई खाते)
  • क्‍या एनआरआई द्वारा भारत दौरे के दौरान बिना किसी प्रतिबंध के उनके द्वारा लिए गए विदेशी मुद्रा नोट/यात्री चैक के आगम उनके एनआरई खाते में जमा की जा सकती है।

हॉं।

  • एनआरई तथा एनआर ओ खातों के बीच क्‍या भिन्‍नता है

विदेश अथवा स्‍थानीय निधियों से प्रेषित निधियां को अन्‍यथा खाता धारक के लिए विदेश अन्‍यथा प्रेषित निधियां को अन्‍यथा खाता धारक के लिए निदेश अन्‍यथा प्रेषित किए जाते है, एनआरई खाते में जमा किए जा सकते है9 स्‍थानीय निधियां जो भारत के बाहर प्रेषण हेतु अर्ह नही है को एनआरओ खाते में जमा करने की आवश्‍यकता है।

  • क्‍या एनआरओ/एनआरई खाते एनआरआई द्वारा निवासियों के साथ संयुक्‍त रूप से अनुरक्षित रखे जा सकते ।

एनआरओ खाते निवासियों के साथ संयुक्‍त रूप से धारण किए जा सकते है।  तथापि, एनआरई खाते निवासियों के साथ संयुक्‍त रूप से नहीं धारण किए जा सकते।

  • नआरई/एनआरओ खातों में निधियों को भारत के बाहर देश - प्रत्‍यावर्तन कर दिया जा सकता।

एनआरई खाते - हॉं
एनआरओ खाते - 1.  वर्तमान आय जैसे किराया, लाभांश, पेंशन, ब्‍याज आदि
              2.  प्राधिकृत डी बैंकों के संतोषलायक अच्‍छे प्रयोजन हेतु प्रति वित्‍तीय वर्ष (अप्रैल-
                   मार्च) 1 मीलियन यूएस डॉलर तक प्रेषण

10.  क्‍या एनआरई/एनआरओ खातों निधियां का उपयोग खाताधारक एवं/अथवा उसके आश्रितों को भारत में/से को वायु टिकट के भुगतान हेतु किया जा सकता है।
हॉं ।

11. क्‍या एनआरओ/एनआरई खाता धारक को उनकी सावधि जमा की जमानत पर ऋण/ओवरड्राफ्ट हेतु अर्ह हैं
हॉं, एनआरई के तहत जमाओं की जमानत पर ऋण/ओवरड्राफ्ट - अधिकतम रू;20 लाख

12.  एनआरओ/एनआरई खातों में नामांकन की अनुमति है
हॉं। 

13. एनआरआई द्वारा विदेशी मुद्रा में खाते अनुरक्षित रखे जा सकते हैं 
हॉं। 

14.  वह कौन सी मुद्राएं हैं जिनमें ऐसे खाते अनुरक्षित रखे जा सकते हैं

  • पाउंड स्‍टर्लिंग
  • यूएस डॉलर
  • यूरो
  • ऑस्‍ट्रेलियन डॉलर
  • कनैडियन डॉलर

15.  क्‍या एफसीएनआर खातों में निधियों को मुक्‍त रूप से विदेश में प्रत्‍यावर्तन किए जा सकते है
हॉं ।

16.  क्‍या एनआरआई अपनी निधियों को सरकारी प्रतिभूतियों अथवा भारतीय यूनिट ट्रस्‍ट की यूनिटों में निवेश कर सकते है।
हॉं।

17. क्‍या एनआरआई भारत में डाक घरों द्वारा जारी राष्‍ट्रीय बचत प्रमाणपत्रों में निवेश कर सकते हैं।
हॉं।

18.  क्‍या सरकारी प्रतिभूतियों/यूनिटों/राष्‍ट्रीय बचत प्रमाणपत्रों की बिक्री/परिपक्‍वता आगमों को विदेश में प्रत्‍यावर्तन करने की अनुमति है
यदि ऐसी प्रतिभूतियां विदेश से प्रेषित निधियों से खरीदे गए हैं।

19.  क्‍या गैर प्रत्‍यावर्तन आधार पर एनआरआई को मालिकाना/साझेदारी संस्‍थानों में निवेश करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक की अनुमति जरूरी है। 
नहीं।

20.  क्‍या गैर प्रत्‍यावर्तन आधार पर इंडियन कंपनियों की नई निर्गमों में निवेश करने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक की अनुमति जरूरी है। 
नहीं। 

21.  क्‍या एनआरआई भारतीय कंपनियों के अपरिवर्तनीय डिबेंचरों में निवेश कर सकते है
हॉं। 

22.  क्‍या एनआरआई इंडियन कंपनियों के निजी व्‍यवस्‍था में विद्यमान शेयर/डिबेंचर खरीद सकते हैं
हॉं।

23.  क्‍या एनआरआई द्वारा गैर प्रत्‍यावर्तन आधार पर भारत में धारण किए गए निवेशों/जमाओं पर अर्जित आय/ब्‍याज के प्रत्‍यावर्तन के प्रत्‍यावर्तन की अनुमति है
हॉं ।

 

 
icon : Branch Network शाखा नेटवर्क
icon : Internet Banking इंडनेट बैंकिंग
icon : ATM Network एटीएम नेटवर्क
icon : IndMobile Banking इंडपे मोबाइल बैंकिंग
icon :  Debit Cards डेबिट कार्ड
icon : Credit Cards क्रेडिट कार्ड
  न्यूसरूम
 » अधिसूचनाएँ
 » जमा दरें
 » ऋण दरें
 » सेवा प्रभार / विदेशी मुद्रा दरें
 उत्पाद पैलेट
 » शिक्षा ऋण
 » धन प्रबंधन सेवाएँ
 » डिपॉजिटरी सेवाएँ
 जानकारी
 » बेसल II प्रकटीकरण
 » सूचना का अधिकार अधिनियम
 » ग्राहक केंद्रित सेवाएँ
 » उत्तम आचरण कोड
प्रेस विज्ञप्तियां  |  निविदा / बोली /नीलामी |  करियर  |  डाउनलोड  |  अस्वीकरण  |   | आनलाइन ग्राहक शिकायत