राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर1800 425 00 000

इंड मार्टगेज

इंड मार्टगेज

मुख्य विशेषताएँ सट्टेबाजी के प्रयोजनों के अलावा कोई भी वास्‍तविक प्रयोजन
पात्रता वेतनभोगी वर्ग : * केन्‍द्रीय / राज्‍य सरकार / अर्ध सरकारी निकायों / सार्वजनिक सीमित कंपनियों / प्रतिष्ठित प्राइवेट लिमिटेड कंपनियों के स्‍थाई कर्मचारी जिनको समय पर वेतन अदा करने का साफ़ रिकॉर्ड प्राप्‍त है। * कम से कम 3 साल की सेवा पूरी की होनी चाहिए। * कम से कम रुपया 15000/- प्रति महीने की न्‍यूनतम मासिक आय प्राप्‍त होनी चाहिए तथा अन्‍य कटौतियों के अलावा, प्रस्‍तावित ऋण से संबंधित कटौती के बाद घर ले जाने के लिए सकल आय के 40 प्रतिशत से अधिक राशि होनी चाहिए। स्‍व-नियोजित / व्‍यावसायिक / व्‍यापारी * पिछले 3 वर्षों में उनकी औसत अर्जित आय के आधार पर * प्रस्‍तावित ईएमआई की कटौती के पश्‍चात् न्‍यूनतम निवल वार्षिक आय रुपया 150000/- होनी चाहिए। फर्म और कंपनियां * नकदी प्रवाह के आधार पर वैयक्तिकों के लिए आयु मानदण्‍ड * प्रवेश स्‍तर की न्‍यूनतम आयु : 18 वर्ष वेतनभोगी वर्ग के वैयक्तिक समाप्ति स्‍तर की आयु : 60 वर्ष (या सेवानिवृत्ति के समय में आयु) अन्‍य वैयक्तिक समाप्ति स्‍तर की आयु – 60
ऋण की मात्रा अधिकतम रुपए 200 लाख
मार्जिन प्रतिभूति के रूप में प्रदत्‍त संपत्ति के वसूली योग्य बिक्री मूल्‍य का 50 प्रतिशत
प्रोसेसिंग फीस ऋण राशि पर 1.15 प्रतिशत
पुनर्भुगतान अवधि 84 ईएमआई से अधिक नहीं (कोई अवकाश अवधि नहीं)
पूर्व भुगतान शुल्क * यदि अपनी निधि से ऋण चुकाया जाता है, तो समय से पूर्व समापन के प्रभार नहीं लगाए जाएंगे। * यदि किसी अन्‍य बैंक / वित्‍तीय संस्‍था द्वारा टेक-ओवर के जरिए ऋण समाप्‍त किया जाता है, तो बकाया शेष या प्रयोज्‍य आहरण सीमा, जो भी अधिक हो, पर 2.25 प्रतिशत
जमानत * प्रतिभूति के रूप में प्रदत्‍त संपत्ति का साम्यिक बंधक * जिस राज्‍य में संपत्ति अवस्थित‍ है, वहॉं इसके लिए प्रावधान है, तो आवेदक के खर्च पर साम्यिक बंधक पंजीकृत किया जाए।  कृषि संपत्ति या विवादास्‍पद संपत्ति / आयकर प्राधिकारियों द्वारा कुर्क की गई संपत्ति के विरुद्ध इंड मार्टगेज ऋण अनुमत नहीं है।
आवेदन के प्रसंस्करण के लिए आवष्यक दस्तावेज़ 1. पासपोर्ट आकार के फोटोग्राफ सहित भरा गया आवेदन पत्र ।
2. पैन कार्ड / मतदाता आईडी / पासपोर्ट / ड्राइविंग लाइसेंस जैसे पहचान के प्रमाण
3. आवास का प्रमाण जैसे हाल ही का टेलीफोन बिल / बिजली बिल / संपत्ति कर रसीद / पासपोर्ट / मतदाता पहचान पत्र।
4. व्‍यापारियों / उद्योगपतियों के मामले में व्‍यापार के पते का प्रमाण
5. रोजगारी का प्रमाण
6. वेतन प्रमाणपत्र
7. किराया, निवेश पर ब्‍याज आदि अन्‍य आय, यदि हो, तो उसका प्रमाण
8. व्‍यावसायिक, व्‍यापारियों और स्‍वनियोजितों के मामले में पिछले तीन वित्‍तीय वर्षों के लिए तुलनपत्र
9. पिछले 3 वर्षों के लिए आयकर / संपत्ति कर (यदि लागू हो) की विवरणी
10. बिक्री विलेख
11. अनुमोदित भवन का नक्‍शा
12. 30 वर्षों के लिए हक विलेख के प्रलेख
13. राजस्‍व के रिकॉर्डों में हक के प्रमाण (बैंक द्वारा आवेदक के खर्च पर अधिवक्‍ता से विधिक अभिमत एवं इंजीनियर से संपत्ति के मूल्‍यांकन की व्‍यवस्‍था की जाएगी)
बीमा प्रतिभूति के रूप में प्रदत्‍त संपत्ति को उधारकर्ता के खर्च पर बैंक खण्‍ड के साथ आग, बाढ़, भूकम्‍प, दंगे और अन्‍य जोखिमों के विरुद्ध, जो सामान्‍यतया बीमा कंपनियों द्वारा कवर किए जाते हैं, बीमाकृत किया जाए।

( अंतिम संशोधन Apr 08, 2019 at 02:04:11 PM )