राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर1800 425 00 000

आईबी वी कलेक्ट प्लस

आईबी वी कलेक्ट प्लस

ऑनलाइन प्रतिक्रिया के साथ ऑफ़लाइन संग्रहण

इंडियन बैंक किसी भी बैंक के शाखा कुरियर या नेट बैंकिंग के माध्यम से विभिन्न स्रोतों से धन प्राप्त करने के लिए शैक्षिक संस्थानों, कॉर्पोरेट, वित्त कंपनियों, चिट कंपनियों आदि को सशक्त बनाने के लिए प्रेषणकर्ता विवरण के बारे में रियल टाइम एमआईएस के साथ एक डिजिटल संग्रहण उत्पाद प्रदान करता है।

मुख्य विशेषताऐं:

  • 6 अंकों की वर्चुअल आईडी इंस्टीट्यूशन / मर्चेंट की खाता संख्या के लिए मैप की गई।
  • किसी भी बैंक की शाखाओं और नेट बैंकिंग के माध्यम से प्रेषण में आसानी।
  • विप्रेषक आईडी / राशि की वैधता
  • संस्थानों / व्यापारियों को धन की प्राप्ति की रियल टाइम की पुष्टि
  • स्वचालित एमआईएस रिपोर्ट

लक्ष्य खंड:

  • स्कूल / कॉलेज / विश्वविद्यालय जैसे शैक्षिक संस्थान के फीस भुगतान संग्रहण करने के लिए
  • कॉर्पोरेट द्वारा डीलर्स / एजेंटों से बकाया भुगतान की वसूली
  • समाचार पत्र / आवधिक जो चन्दा वसूल करते हैं।
  • चिट कंपनियाँ / ज्वेलरी दुकानें जो सदस्यता लेती हैं।
  • प्रभार की वसूली हेतु आवासीय एसोसिएशन
  • वित्त कंपनियां उधारकर्ताओं से ऋण की किस्तें वसूल करती हैं।
  • किसी भी अन्य प्रकार का ग्राहक जो नियमित अंतराल पर कई विप्रेषक से पैसा संग्रहण करता है

 

यह किस प्रकार कार्य करता है?

जब आईबी वी कलेक्ट प्लस के माध्यम से लेनदेन शुरू किया जाता है, तो कार्य का प्रवाह निम्न होगा –

 

विकल्प 1: संस्था को रियल टाइम क्रेडिट की पुष्टि

 

  • विप्रेषक किसी भी माध्यम से इंडियन बैंक शाखा काउंटर पर नकद / चेक द्वारा या अन्य बैंक शाखा काउंटर / नेटबैंकिंग पर एनईएफटी / आरटीजीएस आदि के माध्यम से लेनदेन शुरू करता है।
  • क्रेडिट राशि रियल खाते के बजाय वर्चुअल खाता संख्या होगी।
  • वर्चुअल खाता = वर्चुअल आईडी + अनन्य विप्रेशण जानकारी।
  • लेनदेन को संसाधित किया जाएगा और राशि वास्तविक खाते में जमा की जाएगी।
  • विप्रेषण विवरण के साथ क्रेडिट की पुष्टि संस्था को भेजी जाएगी।

 

विकल्प 2: विप्रेषण विवरण और रियल टाइम क्रेडिट पुष्टि की वैधीकरण

  • विप्रेषक किसी भी माध्यम से इंडियन बैंक शाखा काउंटर पर नकद/चेक द्वारा या अन्य बैंक शाखा काउंटर / नेटबैंकिंग पर एनईएफटी / आरटीजीएस आदि के माध्यम से लेनदेन शुरू करता है।
  • जब विप्रेषक द्वारा लेनदेन शुरू किया जाता है, तो विप्रेषक आईडी और राशि सत्यापन के लिए संस्था को भेजी जाएगी।
  • यदि सत्यापन पर विवरण सही है, तो लेनदेन स्वीकार किया जाएगा और राशि खाते में जमा की जाएगी। विप्रेषक विवरण के साथ क्रेडिट की पुष्टि संस्था को भेजी जाएगी।
  • यदि सत्यापन पर विवरण गलत हैं, तो लेनदेन को अस्वीकार कर दिया जाएगा / प्रेषक को वापस कर दिया जाएगा।

 

व्यापारियों / संस्थानों को लाभ:

  • संस्था की पसंद की वर्चुअल आईडी
  • खाते में गलत क्रेडिट से बचना
  • प्राप्तियों की रीयल टाइम पुष्टिकरण
  • परेशानी रहित सुलह
  • ग्राहक के भुगतान के लिए 6 अंकों के वर्चुअल कोड के रूप में संस्था के रियल कलेक्शन अकाउंट नंबर के लिए कोई एक्सपोजर नहीं ।
  • नेट बैंकिंग के माध्यम से लेन-देन का विवरण भी तुरंत देखना।

( अंतिम संशोधन Nov 04, 2019 at 05:11:00 PM )