राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर1800 425 00 000
 
राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर1800 425 00 000

इमेज – प्रधानाचार्य का संदेश

इमेज – प्रधानाचार्य का संदेश

प्रिय साथियों,
मैं, सबसे पहले सभी सदस्यों को इंडियन बैंक टीम के साथ संस्थापक दिवस समारोह, 2015 के अवसर पर 3 लाख करोड़ कारोबार के मील के पत्थर को पार करने के लिए बधाई देता हूँ।  इंडियन बैंक ने पिछले दशकों में कई उतार-चढ़ाव देखे हैं, लेकिन हमें अपनी ‘‘बाउन्सिंग बैक’’ क्षमता पर गर्व है।  किसी भी प्रतिकूल स्थिति में, हम एक साथ अपनी क्षमता को बढ़ा सकते हैं, अपनी क्षमता में सुधार कर सकते है और वह हमारी ताकत को दर्शाता है।  बैंकों की प्रतिस्‍पर्धात्‍मकता के लिए गुणवत्ता से युक्‍त मानव पूंजी हमेशा आवश्यक और मूल्यवान अंतर स्‍थापित करनेवाले घटक के रूप में उभरा है।  संगठन के निर्माण के लिए लोगों का निर्माण आवश्यक है जिससे कि कारोबार निर्माण हो सके जो कॉर्पोरेट विजन और कारोबार लक्ष्यों को साकार करने की कुंजी है।  समय की मांग है कि हमारी कारोबार रणनीति में प्रशिक्षण को एक महत्वपूर्ण स्थान दें।
हमारे बैंक में प्रशिक्षण प्रणाली अब सक्रिय, जीवंत और कारोबार के प्रति और अधिक अनुक्रियाशील होने की ओर अग्रसर है।  प्रशिक्षण मॉड्यूल अब बदलते कारोबारी माहौल और कर्मचारियों के बदलते स्वरूप को ध्यान में रखकर तैयार किये  जा रहे हैं।
प्रशिक्षण प्रणाली को कारोबार के प्रति अधिक अनुकूल, सक्रिय और तेज बनाने के लिए, हम  अंचल कार्यालय और शाखाओं के माध्यम से प्रशिक्षण जरूरतों की पहचान कर  “बॉटम अप अप्रोच”  पर विश्वास करते है।  हम शाखा प्रबन्धकों और संबन्धित अंचलों के अधिकारियों की प्रतिक्रिया के आधार पर प्रशिक्षण आवश्यकताओं, ज्ञान और कौशल उन्नयन को जांचने के लिए अंचल नेतृत्व को आमंत्रित करते हैं।   इमेज, एसटीसी और अंचल टीम मिलकर बैंक के साथ साथ संबन्धित अंचल की कारोबार रणनीति समन्वय करने का प्रयास करें, जिससे कि आवश्यकता आधारित प्रशिक्षण इनपुट्स प्रदान किये जा सकें।   संबन्धित शाखाओं द्वारा उचित प्रशिक्षण के पश्‍चात का प्लेसमेंट और प्रशिक्षण प्रणाली को अपनी प्रतिक्रिया देने से प्रशिक्षण की प्रभावशीलता का पता लगाया जा सकता है, जिससे कि प्रशिक्षण वितरण तंत्र में सुधार या उसे व्यवस्थित किया जा सके।
प्रशिक्षण प्रणाली के क्षेत्र में उत्कृष्टता केवल तभी प्राप्त की जा सकती है जब बैंक में हमारे लोगों में 3 `सी’ विकसित है – `विश्वास’, ‘क्षमता’ और  ‘सामर्थ्य’।  सफलता ऊपर के 3 सी पर निर्भर होगा ताकि 3 `एस’ अर्थात  -`स्पीड’, `स्केल’ और `स्थिरता’ को हासिल किए जा सके जिससे लाभ के साथ धारणीय व्यवसाय विकास स्‍थापित किया जा सके।
हमारी प्रशिक्षण प्रणाली ने दो मासिक ई-जर्नल्स “नॉलेज बैंक” और “बैंक अपडेट” की परिकल्पना और विकास किया है, जिनका शुभारंभ, हमारे माननीय प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री महेश कुमार जैन द्वारा हमारी हेल्प डेस्क की इमेज़ साइट पर 17 अगस्त 2015 को शुरू किया गया।
नॉलेज बैंक में समकालीन बैंकिंग के मुद्दों जैसे परिचालन बैंकिंग, जोखिम प्रबंधन, विदेशी मुद्रा प्रबंधन, ऋण प्रबंधन, आईटी प्रबंधन, मानव संसाधन और सतर्कता जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर लेख शामिल हैं।
बैंकिंग अपडेट :  बैंकिंग नीतियों, अधिनियमों, रिफार्म्स, घटनाक्रम, सामान्य जागरूकता, बैंकिंग वित्त, अर्थशास्त्र और अन्य बैंकिंग सुविधाओं में परिवर्तन से संबन्धित है।
हम चाहते है कि हमारे सभी साथी इन ई-जर्नल्स का उपयोग करें और अपने ज्ञान को समृद्ध कर अपने प्रतिस्‍पर्धियों से आगे बढ़ें।  हम अपने बैंक में बेहतर प्रतिभा प्रबंधन के लिए ज्ञान साझा करने हेतु हर महीने उनके योगदान को प्रोत्साहित एवं आमंत्रित भी करते हैं।  लेख ईमेल आईडी  : cmacademics[dot]image[at]gmail[dot]com  या principalsecretariat[at]gmail[dot]com पर भेजे जा सकते हैं।
हम अपने सहकर्मियों हमारे बैंक के लिए आपके सुझाव, प्रतिक्रिया और योगदान तथा और हमारी पहल को अधिक सार्थक और उपयोगी बनाने के लिए आपकी सक्रिय भागीदारी का स्वागत करते हैं।
शुभकामनाएं सहित,
साभार,

प्रिंसिपल, इमेज़

( अंतिम संशोधन Jul 24, 2018 at 09:07:13 AM )